भगवान परशुराम -विष्णु का छठा अवतार।

Originally posted on DharmaShastra:
परशुराम शिव के भक्त थे और उसे भगवान शिव से एक वरदान के रूप में एक परशु मिला था , इस प्रकार परशुराम नाम दिया गया था। शिव ने उन्हें युद्ध कौशल भी सिखाया था । एक बच्चे के रूप में परशुराम एक उत्सुक शिक्षार्थी थे और उन्होंने हमेशा अपने पिता…

ऋषि विश्वामित्र क्षत्रिय से ब्राह्मण कैसे बने।

Originally posted on DharmaShastra:
महर्षि विश्वामित्र इतिहास के सबसे श्रेष्ठ ऋषियों में से एक जो कि जन्म से एक ब्राह्मण नहीं थे लेकिन अपने तप और ज्ञान के कारण इन्हें महर्षि की उपाधि मिली थी। आइये दोस्तों आज हम मिलकर पड़े महर्षि विश्वामित्र की रोमांचिक कहानी। ऋषि विश्वामित्र एक बेहद प्रबुद्ध, ऋषि थे। कौशिकी नदी के…

हिंगलाज माता मंदिर – 51 शक्तिपीठों में से एक जो स्थित है बलूचिस्तान, पाकिस्तान में।

Originally posted on DharmaShastra:
पाकिस्तान के बलूचिस्तान के रेगिस्तान में कराची शहर के लगभग दो सौ किलोमीटर पश्चिम में हिंदू देवी हिंगलाज का मंदिर हैं। हिंगलाज शक्तिपीठ 51 शक्तिपीठों में से एक है। हिन्दू धर्म के पुराणों के अनुसार जहाँ-जहाँ सती के अंग के टुकड़े, धारण किए वस्त्र या आभूषण गिरे, वहाँ-वहाँ शक्तिपीठ अस्तित्व में…