KAADI VIDYA

जिस प्रकार हाड़ी विद्या में न तो भूख लगती है और न ही प्यास, उसी प्रकार काड़ी विद्या में ऋतु परिवर्तन अर्थात् ग्रीष्म, शीत, वर्षा आदि का प्रभाव नहीं पड़ता है। इस विद्या को करने के बाद व्यक्ति को ठण्डा नहीं लगेगा, चाहे वह आसन पर बैठे। बर्फ से लदे पहाड़ और आग में बैठने…